Search Images Maps Play YouTube News Gmail Drive More »
New Features | Help | Sign in
  
Explore
 
Sumeet & Shweta
photos
Recent Comments View All
"अभी मैंने उसका माल गटका नहीं था, कि उसने मुझे स्मूच कर दिया ! वो मेरी लाइफ का सबसे बढ़िया एंड तरावट भरा चुम्बन था ! वो अपनी गांड मेरे लंड से सटा कर रश्मि की तरफ मुंह कर के सोने लगी। सोनल- थेंक यू संजय, एंड गुड नाईट ! मैं उसके पीछे से उसके मम्मे सहलाते हुए- सोनल यू आर अमेजिंग ! लव तो फक्क यू एनी टाईम ! हम कब सो गए पता ही नहीं चला !"
raj gupta
"और लंड बाहर निकाल कर बगल में लेट गया, सोनल उठ कर उसकी गांड चाटने लगी, मेरा वीर्य पीने लगी और उसकी गांड का छेद चाट चाट के साफ़ करने लगी ! रश्मि ठंडी ठंडी आहें भरती हुई उलटी लेट गई ! सोनल- एक बार मेरी चूत चाट के झड़वा दे संजय ! उसकी आँखों में याचना थी। मैं मना नहीं कर पाया और वो मेरे मुंह पर चूत लगा कर पलंग को पकड़ के धीरे धीरे चूत मेरे मुंह पे फिराने लगी ! मैं भी लपालप उसकी चूत चाटने लग गया और उसकी गांड में उंगली करता रहा ! वो ज्यादा देर नहीं टिकी और सारा माल मेरे मुंह में छोड़ कर मेरी बाँहों में आ गई !"
raj gupta
"रश्मि कराहते हुए- संजय अब रुक मत ! मार ले मेरी गांड...मैंने भी लंड उठाया हाथ में और लगा दिया उसकी गांड में, पहले धीरे धीरे ...फिर तेज़ तेज़ जोर जोर से शोट लगा रहा था ! रश्मि- आआअह्ह्ह्ह ...आन्नाआआह्ह्ह्ह ...नो नोऊऊऊ ...ऊह ओहूह ...फक्क फक्क ...मर्रीईईइ आआआज ...तो...मर गई रे ...उसकी गांड बहुत टाईट थी इसलिए ज्यादा देर मैं भी नहीं टिक पाया और वो भी नहीं... हम दोनों झड़ने लगे ! मैंने सारा वीर्य उसकी गांड में डाल दिया !"
raj gupta
"रश्मि- संजय पूरा डाल दे ...फाड दे आज गांड मेरीईइईई ! मैंने चार झटके जोर जोर से उसकी गांड में मारे और पूरा लंड अन्दर डाल दिया! रश्मि सोनल की चूत पे काटते हुए- आआ आआआ आआआआआ आआआआअ... मररर ररररररइईईइ ...आआअह्ह्ह ! सोनल- आआअह्ह्ह ...कुतियाआआआ ...मार दिया ! सोनल उस पर चिल्लाती हुई बोली। मैं रुक गया क्यूंकि मुझे पता था कि अब वो सहन नहीं कर पाएगी ! मैंने लंड बाहर निकाल लिया ! फ्फच्च्च की आवाज आई।रश्मि- आःह्ह्ह ...(अपनी गांड चौड़ी करते हुए बोली)... आःह्ह्ह ...ह्हुह्ह ...डाल दे संजय, डाल दे !"
raj gupta
"सोनल मेरी गांड पर चपत मारते हुए बोली- अरे माँ के लौड़े ! आराम से कर, रण्डी खुद मरवा रही है तुझसे, प्यार से धीरे धीरे चीर चूत इसकी ! मैंने उसकी कमर को कस के पकड़ा हुआ था ! अब मैंने धीरे धीरे उसकी गांड में अपना लंड हिलाना शुरू किया, हांलाकि मेरा लंड सिर्फ आधा अन्दर था ! मैं उसकी गांड पर चपत मरते हुए, धीरे धीरे शोट लगा रहा था !रश्मि- आःह्ह्ह... मर गई रेरफ़िर पीछे देखते हुए- पूरा डाल दिया न? सोनल- कह रही थी, इससे मत मरवा गांड अपनी... अभी तो आधा ही गया है मेरी रानी ! सोनल अपनी चूत उसके मुंह से लगा कर बोली।"
Anchal Shukla
Album Locations
RSS